हैदराबाद से गिरफ्तार हुआ सिमी आतंकी, 16 साल की उम्र में ही बन गया था स्लीपर सेल


हैदराबाद से गिरफ्तार हुआ सिमी आतंकी, 16 साल की उम्र में ही बन गया था स्लीपर सेल

पिछले छह साल से इंटेलीजेंस आरोपी की तलाश में लगे थे।
रायपुर. रायपुर में आतंकी संगठन स्टूडेंट इस्लामिक मूवमेंट ऑफ इंडिया (SIMI) के स्लीपर सेल का अहम हिस्सा रहे अजहरूद्दीन उर्फ अजहर उर्फ केमिकल अली को एंटी टेरेरिस्ट स्क्वॉड (ATM) ने हैदराबाद एयरपोर्ट से गिरफ्तार कर लिया।

सिमी के शहरी नेटवर्क का खुलासा होने के बाद से आरोपी फरार हो गया था। पिछले छह साल से इंटेलिजेंस (Intelligence) आरोपी की तलाश में लगे थे। अजहरूद्दीन रायपुर से फरार होकर सऊदी अरब चला गया था। शुक्रवार को वहां से हैदराबाद पहुंचा था। रायपुर एटीएस को इसकी सूचना मिल गई थी। एटीएस ने उसे हैदराबाद एयरपोर्ट में ही घेर लिया। और पकड़कर रायपुर पुलिस के हवाले कर दिया। रायपुर एसएसपी आरिफ शेख ने पूरे मामले का खुलासा किया।

सिमी का फरार आतंकी हैदराबाद से गिरफ्तार, पटना और बोध गया ब्लास्ट से हैं लिंक

क्या था मामला

वर्ष 2013 में प्रधानमंत्री नरेद्र मोदी की रायपुर में सभा आयोजित होने वाली थी। पटना और बोधगया में बम ब्लास्ट का मास्टरमाइंड आतंकी उमेर सिद्दकी के रायपुर में सक्रिय होने का पता चला। इसके बाद एटीएस ने उमेर को गिरफ्तार किया। साथ ही सिमी के 16 अन्य लोगों को पकड़ा गया। इनमें एक सहयोगी अजहरूद्दीन भी था। सिमी से जुड़े 17 लोगों को जेल भेजा गया था। इसके बाद से अजहरूद्दीन फरार था। आरोपियों के खिलाफ सिविल लाइन थाने में अपराध दर्ज है।

पूरा इंतजाम करता था आतंक

आतंकी उमेर के साथ अब्दुल वहीद लंबे समय से रायपुर में सक्रिय था। दोनों के आने-जाने के लिए टिकट, मोबाइल सिम आदि का इंतजाम अजहरूद्दीन ही करता था। साथ ही मोटीवेशनल मीटिंग में लोगों को ले जाने और लाने के लिए वाहनों की व्यवस्था, ठहरने के लिए होटल-लॉज आदि की पूरी व्यवस्था अजहरूद्दीन ही करता था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *