हे भारत के वीर उठो, में तुम्हें उठाने आया हूँ,

|

हे भारत के वीर उठो, में तुम्हें उठाने आया हूँ,गद्दारों की भाल कपाल पे, ध्वज लहराने आया हूँ।साजिश का बारूद बिछा है, कश्मीर की सरहद पर,मेरे साथ चलोगे क्या तुम, शीश चढ़ाने आया हूँ। युद्ध हमारे द्वार खड़ा है, हमें … Read More